Tuesday, July 24, 2012

नाज़िम हिकमत की दो कविताएं : अनुवाद एवं प्रस्‍तुति - यादवेन्‍द्र





उम्मीद                 
 
मैं कवितायेँ लिखता हूँ
पर उनको कोई नहीं छापता
एक दिन ऐसा जरुर आएगा जब छपेंगी मेरी कवितायेँ.
मुझे इंतजार है एक चिट्ठी का
जिसमें आयेगी कोई अच्छी खबर
हो सकता है उसके आने का दिन वही हो
जिस दिन मैं लेने लगूँ आखिरी साँसें...
पर ये हो नहीं सकता
कि न आये वो चिट्ठी.
दुनिया सरकारें या दौलत नहीं चलाती
दुनिया को चलाने वाली है अवाम
हो सकता है मेरा कहा सच होने में लग जाएँ
सैकड़ों साल
पर ऐसा होना है जरुर.
***
                           
मुझे अब बुढ़ापे की आदत हो गयी है                                                 
 
मुझे अब बुढ़ापे की आदत हो गयी है
यह दुनिया की सबसे कठिन  कला  है...
दरवाजे पर ऐसे दस्तक देना जैसे ये आखिरी बार हो
और अब बिछुड़ना आसन्न हो.
घंटों...तुम...बहो...बहते रहो...बहते रहो...
भरोसे को दाँव पर रख कर
मैं कोशिश कर रहा हूँ कि समझ सकूँ सारा माजरा .
तुमसे बहुत कुछ कहने को मन में था
पर कहना संभव हुआ नहीं.
जैसे कि मेरी दुनिया के अंदर बसा हुआ
सुबह सबेरे की सिगरेट का स्वाद...
मृत्यु खुद आने से पहले ही भेज चुकी है
मेरे पास अपना हरकारा अकेलापन.
मुझे उन तमाम लोगों से जलन होने लगी है
जिनको इल्म ही नहीं है कि वे बूढ़े हो रहे हैं
और गहरे जुड़ाव के साथ लगनपूर्वक
जुटे हुए हैं अपने काम में आदतन.
***
                  

2 comments:

  1. Bahut achhi lagi dono kavitayen.Ek bade kavi ki badi kavitayen.Ummeed mein Kafka yaad aate rahe aur doosri kavita ki aakhiri panktiyon mein apna vartmaan dekhta raha....

    ReplyDelete
  2. अच्छी कविताओं का उतना ही अच्छा अनुवाद...यादवेन्द्र जी को सलाम

    ReplyDelete

यहां तक आए हैं तो कृपया इस पृष्ठ पर अपनी राय से अवश्‍य अवगत करायें !

जो जी को लगती हो कहें, बस भाषा के न्‍यूनतम आदर्श का ख़याल रखें। अनुनाद की बेहतरी के लिए सुझाव भी दें और कुछ ग़लत लग रहा हो तो टिप्‍पणी के स्‍थान को शिकायत-पेटिका के रूप में इस्‍तेमाल करने से कभी न हिचकें। हमने टिप्‍पणी के लिए सभी विकल्‍प खुले रखे हैं, कोई एकाउंट न होने की स्थिति में अनाम में नीचे अपना नाम और स्‍थान अवश्‍य अंकित कर दें।

आपकी प्रतिक्रियाएं हमेशा ही अनुनाद को प्रेरित करती हैं, हम उनके लिए आभारी रहेगे।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails